अकबर शेर तो बीरबल सवा शेर - funny story-In Hindi

एक दिन बादशाह अकबर ने बीरबल को सबेरे सबेरे नाश्ते पे बुलाया, बीरबल कडक इस्तरी वाले चमकदार नये कपड़े पहेन कर fogg का सेन्ट  लगा कर पहोच गया, अकबर बीरबल और अकबर की बेगम गार्डेन मे नसता करने टेबल पे बैठ गये, नाश्ते का दौर सुरू हुआ, अकबर की बेगम से रहा नहीं गया, उसने बीरबल की तारीफ कर डाली, के बीरबल जी आज तो काफी धासु लग रहे हो, कही शिकार करने जा रहे हो के किसी का शिकार कर के आ रहे हो? 


जलन तो हुई पर बादशाह ने भी हा मे हा मिला के बोल दिया के हा भाई बीरबल आज तो macho दिख रहे हो, girlfriend मिल गयी है क्या? तो बीरबल ने कहा के ऐसा कुछ नहीं है, जहापना मुजे तो कोय बकरी भी घास नहीं डालती, ऊपरवाले ने दिमाग ही तेज़ दिया है, बाकी lady luck तो ठुस्स दिया है, अगर कोय फुलजड़ी set हो जाती तो यहा वहा थोडी ना मुह मारता फिरता मे... 

इस बात पर अकबर बीरबल और अकबर की बेगम हस पड़ते है... 


नाश्ता खतम करके  बीरबल बोलता है के मे जाता हु, दरबार मे मिलेंगे, अकबर भी कहेते है, के हा जाओ, पर बेगम ने बीरबल को रोक लिया जाने नहीं दिया, क्यू की वो तो almost फिदा हो गयी थी बीरबल के style और looks पर, इस लिए बीरबल के साथ  candy crash खेलने के बहाने थोड़ी देर और रोक लिया उसे, 

अकबर को अब थोड़ी थोड़ी बु आने लगती है, के उसकी बेगम कुछ ज़्यादा ही friendly हुए जा रही है, dashing बीरबल मिया पर, बीरबल को भगाने के लिये अकबर अपनी बेगम को खाना बनाने को बोलते है, ओर बस... इतना सुन कर गरम दिमाग की बेगम की सटक जाती है, 

अब पढ़िये आगे... क्या होता है वार्ता लाप तीनों मे (अकबर बीरबल & अकबर की बेगम)


अकबर : janu baby बेगम खान बनाने की तयारी करो और बीरबल को जाने दो, 

बेगम : क्या है ? अभी तो नाश्ता ठुसा है, खाने और पादने के अलावा कोय काम नहीं आपको ? 

अकबर : मे तो बस ये कहे रहा था के ... 

बेगम : बीरबल को भगा क्यू रहे हो? मे भाग नहीं जाऊँगी उसके साथ, समजे ?, जलो मत, खाली candy crash खेल रहे है, गुटरगु नहीं कर रहे है, 

अकबर : ठीक है मे सो जाता हु, थोड़ी देर, 

बेगम : खाना सोना और घूमना बस, और कोय काम नहीं आपको? ढ़ोल की तरह फूल गये हो, फट जाओगे एक दिन? जिम मे जाके मरो थोड़ा, जाओ 

अकबर : ओके baby मे कसरत करता हु, 

बेगम : हा निकलो, और सुनो ये क्या धारी वाला पाजामा और तम्बू जेसा कुरता पहेन के भालू जेसे घूमते फिरते हो, कुछ style अपने इस बीरबल से सीखो, समजे, 

अकबर : ओके जान मे सीखूँगा, 


==============


अकबर वैसे तो अपनी बेगम की बेलगाम ज़ुबान के आगे बेबस थे, पर बीरबल की तारीफ अकबर से सहेन नहीं हुयी, और अकबर ने सोच लिया के इस बीरबल के बच्चे की वाट लगानी है, क्यू की उसकी के सीन सपाटे की वजह से खुद (अकबर) की बेयजती हुई थी, ऐसा अकबर को लगता है, और दूसरे ही दिन अकबर बीरबल को लपेटे मे ले लेते है, 


हुआ ऐसा के दरबार मे एक क़तल का मामला आता है जिस सिलसिले मे पाँच लोगो को गिरफदार किया जाता है, और खूनी उन पाँच मे से ही एक है, और उसे बीरबल को खोज निकालना है, ऐसा न कर पाने पर बीरबल को सजा दी जायेगी, सजा कुछ इस प्रकार है, 

अगर कातिल को बीरबल न पहेचान सके तो बीरबल को मुन्निबाई के कोठे पर जा कर रेशमा की जवानी फिल्म के song पर तीन घंटे मुजरा करना पड़ेगा, ये सजा के बारे मे सुनकर बीरबल के हाथ पाव फूल जाते है, बीरबल जानता था के नासते पर बादशाह की बेगम ने जो तारीफ की थी वो बादशाह से हजम नहीं हुई, इसी लिए बादशाह ने मुजे यहा फिट किया है, 

बीरबल की इज्ज़त का फ़ालूदा होते हुए अकबर देखना चाहते थे, ताकि उसकी बेगम बीरबल की तारीफ करना भूल जाये, पर बीरबल का उपला माला काफी strong था, उसने फटाक से बचने रास्ता ढूंढ लिया, 

=====

बीरबल पांचों कैदीयो को एक एक लाठी देता है और कहेता है के ये लाठीया जादुई है, और सारी लाठीया ठीक एक नाप की है, और जो भी तुम मे से कातिल होगा उसकी लाठी सुबह तक एक इंच बढ़ जायेगी, अब सब को एक एक लाठी पकड़ा कर बीरबल घोड़े बेच कर अपने महेल मे सो जाता है, 

सुबह दरबार लगता है, और अकबर confident होते है, के आज तो बीरबल की इज्ज़त का फ़ालूदा पक्का, पर चतुर जीव बीरबल पांचों को दरबार मे हाजिर देता है, और रात को दी गयी लाठीया भी मँगवाता है, सारी लाठी एक समान रख कर नापि जाती है, और पाँच मे से जिसकी लाठी एक इंच छोटी पायी जाती है, उसका गिरहबान पकड़ कर बीरबल आगे कर देता है और कातिल को लाफा मार के बोलता है के, दिमाग के दुश्मन लाठी कभी एक रात मे एक इंच बढ़ती है क्या? कवले... तेरी कटी हुई लाठी सबूत है तेरे पाप का,,,  

और अकबर से कहेता है के जाहपाना ये रहा आप का मुजरिम कातिल, 
बीरबल की इस सूजबूज पे फिदा हो कर अकबर बादशाह अगले दिन फिर बीरबल को नाश्ते पे बुलाते है, 


"बीरबल फटाक से बोल उठता है, के जहापना कल मेरा fast (उपवास) है नाश्ता किसी और दिन करेंगे" हाहाहा हाहाहा 

"वार्ता समाप्त"  
अकबर शेर तो बीरबल सवा शेर - funny story-In Hindi अकबर शेर तो बीरबल सवा शेर - funny story-In Hindi Reviewed by Paresh Barai on 9:41:00 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.