Sunday, July 24, 2016

Kabali Movie Details and Short Biography of Mega Star Rajnikanth रजनीकान्त जीवनी और फिल्मोग्राफी

मशहूर अभिनेता रजनीकान्त एक बार फिर से अपनी अदाकारी का जादू दिखानें आ रहे हैं। रजनीकान्त की बहुचर्चित फिल्म “Kabali” सिनेमा घरों में 22 जुलाई, 2016 से आचूकी है। साउथ के सुपर स्टार रजनीकान्त तमिलनाडू में भगवान की तरह पूजे जाते हैं। यह अभूतपूर्व ख्याति उन्हे उनके सरल स्वभाव और करिश्माई अदाकारी से प्राप्त हुई है। रजनीकान्त का उनके fans पर इतना प्रभाव है की, उनका फिल्म में प्रयोग किया हुआ नया स्टाइल “लेटेस्ट ट्रेंड” बन जाता है। आइये जानते हैं उनकी नयी फिल्म Kabali के बारे में....


Kabali Movie Detailsकाबाली फिल्म के बारे में जानकारी  

Kabali फिल्म मूल रूप से एक तमिल भाषा की गैंगस्टर ड्रामा फिल्म है। काबाली फिल्म हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में भी release होगी। इस फिल्म को पी॰ ए॰ राजनाथ नें डाइरैक्ट किया है। और इस फिल्म के producer कलाईपूली एस॰ थानु हैं। इस फिल्म में मुख्य भूमिका में सुपर स्टार रजनीकान्त हैं। और अन्य भूमिका में विंस्टन चाओ, और राधिका आफ़्टे हैं। इस Kabali फिल्म का एडिटिंग वर्क प्रवीण के॰एल॰ के द्वारा किया गया है। काबाली फिल्म में संतोष नारायण नें संगीत (Music) दिया है। इस फिल्म को “जेमिनी फिल्म सर्किट” के द्वारा distribute किया गया है। 100 करोड़ रुपेय की लागत से तैयार हुई इस फिल्म का रन टाइम करीब 152 मिनट का है।



Short Biography of the Great Ranjnikantरजनीकान्त की संक्षिप्त जीवनी   

रजनीकान्त का जन्म 12 दिसंबर 1950 के दिन हुआ था। उनका परिवार कर्नाटक राज्य के बंगलोर जिले में स्थायी था। रजनीकान्त के तीन भाई है। कुल चारों भाई में रजनीकान्त सब से छोटे हैं। केवल नौ साल की उम्र में ही  रजनीकान्त के सिर से अपनी माँ का साया दूर हो गया। बालपन से ही रजनीकान्त पढ़ाई में प्रवीण थे। उन्हे खेल-कूद और अभिनय क्षेत्र में बचपन से ही अधिक रुचि थी। बड़े भाई नें रजनीकान्त को जब रामकृष्ण मठ में दाखिल करा दिया तब उन्होने वहाँ हिन्दू संस्कृति और वेदों का ज्ञान ग्रहण किया। येही वह वक्त था जब उन्हे अभिनय क्षेत्र और थिएटर-नाटकों में अधिक इन्टरेस्ट जागा।

Family of Ranjnikantरजनीकान्त का परिवार  

रजनीकान्त नें लता रंग्चारी नामक युवती से विवाह किया था। कॉलेज पत्रिका के लिए इंटरव्यू लेनें आई लता पहली नज़र में ही रजनीकान्त को पसंद आ गयी थी। उनहों वर्ष 26 फरवरी, 1981 में आंध्रा प्रदेश के एक तिरुपति मंदिर में विवाह कर लिया। रजनीकान्त और लता को दो बेटियाँ हैं जिनमें एक का नाम सौंदर्या और दूसरी का नाम ऐश्वर्या है। वर्ष 2004 में ऐश्वर्या रजनीकान्त (बड़ी बेटी) नें साउथ के प्रससिद्ध अभिनेता धनुष से विवाह किया है, ऐश्वर्या और धनुष को दो पुत्र भी हैं। सौंदर्या साउथ इंडस्ट्री में एक फिल्म निर्माता, निर्देशक, और ग्राफिक्स डिजाइनर के तौर पर कार्यरत है।          

Early Life & Struggle of Ranjnikantरजनीकान्त का शुरुआती सफर और कठिनाईयां  

आज के समय में भगवान की तरह पूजे जाने वाले रजनीकान्त, गरीबी के दिनों में अपनें परिवार को सहायरूप होने के लिए कार्पेंटर और कुली का काम भी कर चुके हैं। रजनीकान्त नें बंगलौर ट्रांसपोर्ट सर्विस में एक कंडक्टर की नौकरी भी की है। नौकरी के साथ साथ उन्होने कन्नड नाटकों में हिस्सा लेना शुरू किया। और फिर उन्होने मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट में दाखिला लिया। नाटकों में actively भाग लेते रहने के कारण रजनीकान्त एक तमिल निर्देशक के॰ बालचंदर की नज़र में आ गए। हाला की रजनीकान्त को तमिल भाषा का ज्ञान नहीं था, पर उनकी सलाह पर रजनीकान्त नें तमिल भाषा सीखना शुरू कर दिया।

Entry of Ranjnikant in Film Industry – फिल्मी दुनियाँ में रजनीकान्त का आगमन   

वर्ष 1975 में प्रदर्शित हुई फिल्म “अपूर्व रागंगल” में उन्हे एक छोटी सी भूमिका निभाने का अवसर प्राप्त हुआ। इस फिल्म में निर्देशन के॰ बालचंदर के द्वारा दिया गया था। और रजनीकान्त नें  श्रीविद्या के पति का किरदार निभाया था। इस फिल्म में मुख्य नायक की भूमिका में कमल हसन थे।
रजनीकान्त नें अपनें शुरुआती फिल्मी सफर में कई नकारात्मक भूमिकायेँ भी निभाई हैं। साउथ में रजनीकान्त का कद दिन पर दिन बढ़ता गया। फिर उन्होने हिन्दी सिनेमा जगत “बॉलीवुड” में भी कदम रखा। उनहों अंधा कानून, फूल बने अंगारे, हम और कई सारी अन्य फिल्मों में दम दार प्रदर्शन किया। अलगे बीस पच्चीस सालों में रजनीकान्त नें अपनें फिल्मी सफर में कई उतार चड़ाव देखे। फिल्में चले या ना चले पर रजनीकान्त की प्रख्याति (popularity) में कभी कोई कामी नहीं आयी।

  

Second Inning of Ranjnikant’s Film Career – फिल्मी दुनियाँ में रजनीकान्त की दूसरी पारी

वर्ष 2005 में आई फिल्म “चन्द्रमुखी” से उन्होने साबित कर दिया की बढ़ती हुई उम्र रजनीकान्त का कुछ नहीं बिगाड़ सकती। उसके बाद वर्ष 2007 मे प्रदर्शित हुई फिल्म “शिवाजी” नें बॉक्स ऑफिस पर रेकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन किया। और रजनीकान्त साउथ के ही नहीं पूरे इंडिया के दुलारे स्टार बन गए। वर्ष 2010 में आई फिल्म “रोबोट” में फिर से उन्होने audience पर जादू चला दिया। रजनीकान्त नें  रोबोट फिल्म में दोहरा किरदार निभाया था और इस फिल्म में नायिका ऐश्वर्या राय थीं। वर्ष 2012 में रजनीकान्त नें एक एनिमेटेड फिल्म “कोचान्दलियान” में काम किया। इस फिल्म का नाम पहले “राणा” रखा गया था। जिसे बाद में बदल कर “कोचान्दलियान” कर दिया गया। जब यह फिल्म बन रही थीं तब रजनीकान्त काफी बीमार हो पड़ थे। रजनीकान्त की अगली फिल्म वर्ष 2014 में आई।  इस फिल्म का नाम “लिंगा” था। यह फिल्म कुछ खास सफल नहीं हो सकी। फिर भी इस फिल्म को ठीकठाक प्रतिसाद मिला था। वर्तमान समय में रजनीकान्त की नयी फिल्म काबाली (Kabali) (released on 22 जुलाई 2016) सिनेमा घरों में आ चुकी है, जिसके सारे शॉ हाउस फूल जा रहे हैं।

More-विशेष            

सफलता पाने के बाद व्यक्ति को किस तरह जीना चाहिए। यह बात राजनीकान्त जीवनी से सिखनी चाहिए। आज के समय में कम प्रसिद्धि पाने वाले अधूरे घड़े सामान कलाकार भी इस तरह गुमान में आ जाते हैं की अन्य कलाकारों को और सामान्य लोगों को इंसान समजना ही छोड़ देते हैं। ऐसे व्यक्तियों को सुधरने के लिए....   रजनीकान्त जीवनी से ज़रूर सीख लेनी चाहिए। - “धन्यवाद”
loading...

0 comments:

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP