कार्ल बेंज़ : पेट्रोल से चलने वाली कार बनाने वाला महान वैज्ञानिक

जर्मनी के निवासी कार्ल बेंज़ पेट्रोल चालक कार बनाने वाले प्रथम व्यक्ति थे। उनका जन्म वर्ष 1844 में 25 नवंबर के दिन हुआ था। वह एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे। कार्ल जब दो साल के थे तभी कार्ल के पिता गुज़र चूके थे। तमाम मुसीबतों के बाद भी कार्ल की माता नें उन्हे पोली टेक्निक यूनिवर्सिटी में पढ़ने भेजा था और उसके बाद उन्हे मेकेनिकल एंजिन्यरिंग कालेज भी भेजा था। 15 वर्ष के कार्ल एक साइकिल के कर कालेज पढ़ने जाते थे। रास्ते में घोडा गाड़ी देख उन्हे बिना घोड़े के गाड़ी दौड़ने की कोई मशीन आविष्कार करने की सूझी।

Carl Benz

पढ़ाई खत्म कर लेने के बाद एक वज़न काटा बनाने की कंपनी में उन्होने डिजाइनर की नौकरी हासिल करी। अलग अलग जगहों पर नौकरी करने के बाद उन्होने खुद की साइकिल रिपेर की दुकान लगाई। कुछ पैसे जोड़ने के उपरांत कार्ल नें दोस्तों के साथ मिल कर गाडियाँ और अन्य वेहिकल बनाने की कंपनी खोली। वर्ष 1885 में गाड़ी के पिछले टायर्स के बीच एक पेट्रोल एंजिन लगा कर चलने वाली कार बनाई। उस समय कार्ल की उस पेट्रोल कार में लकड़ी के टायर्स हुआ करते थे।

उस जमाने में पेट्रोल का उपयोग बहुत कम होता था। साफ सफाई और अन्य छोटी मोटी चीजों के काम में पेट्रोल उपयोग होता था। और तब पेट्रोल किराने की दुकान में भी बड़ी आसानी से मिल जाता था। वर्ष 1899 में 572 बेंज़ कार बाज़ार में उतारी गयी थी। कार बाज़ार की दुनियाँ में पहली पेट्रोल कार बनाने वाले इस महान वैज्ञानिक की मृत्यु 04 अप्रैल, 1928 के दिन हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *