Website Blog Design में होने वाली Top 5 SEO Mistakes और उसके Solution

अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो एक बात हमेशा याद रखें। अपने ब्लॉग को समय समय पर एक visitor की नज़र से भी देखें। जब आप किसी topic पर कुछ information खोज रहे हों तब आप किस तरह की website को देखना चाहेंगे। किस प्रकार की Blog Design आप को irritate करती है। किस तरह की website आप को आकर्षक लगती है। ऐसा प्रयोग करने से आप अपने Blog visitors की नब्ज़ पकड़ सकेंगे और traffic friendly कंटैंट लिख सकेंगे। अब कंटैंट आकर्षक लगे उसके साथ साथ SEO Friendly भी होना ज़रूरी है। अगर कंटैंट ज़्यादा complicated हुआ तो गूगल सर्च और अन्य सर्च एंजिन उसे ठिक से crawl और Index नहीं कर पाएंगे, और आप का ब्लॉग organic traffic हासिल नहीं कर पाएगा। अब इस पूरे ज्ञान से निष्कर्ष यह निकलता है की एक ब्लॉगर को हमेशा visitor friendly और SEO friendly कंटैंट लिखना चाहिए और blog का outlook भी SEO friendly रखना चाहिए।

Blog Design मे होने वाली 5 Major SEO mistake

हर एक ब्लॉगर को यह याद रखना चाहिए की ब्लॉगिंग में article Content के शब्द राजा होते हैं। अगर नीले पीले भड़कीले चमकीले रंगो से ही खेलने का शौख है तो, ब्लॉगिंग field कभी नहीं चुनना चाहिए। Blogging में तो Traditional ब्लैक और व्हाइट ही शोभा देता है। ज़्यादा हुआ तो एकाद secondary कलर एक्स्ट्रा चुन सकते हैं। अब Blog design में और भी ऐसे कुछ points हैं जिसे कई ब्लॉगर जाने अनजाने miss कर देते हैं।

1 Use of Loud and harsh colors – ब्लॉग डिज़ाइन में भड़कीले कलर्स का ईस्त्माल

जैसे की ऊपर के heading में बताया की एक professional ब्लॉगर को दो से तीन Traditional basic रंग का ही use करना चाहिए। अब भड़कीले कलर blog design में ईस्त्माल करने से नुकसान क्या हो सकता है यह भी जान लीजिये।

अगर आप के ब्लॉग का design बढ़िया color combination वाला हुआ तो visitors आप के written content की वजाए ब्लॉग के design को अधिक देखते रहेंगे, जिस से उनका ध्यान लेख से distract होगा।

और अगर blog का रंगबेरंगी design बहुत साधारण हुआ तो visitor बड़ी जल्दी आप का ब्लॉग quit कर के चले जाएंगे। यह भी याद रखिए की भड़कीले कलर्स आँखों को चुभते हैं। reader ऐसे background में अधिक देर तक कंटैंट पढ़ने में दिक्कत महेसूस करता है। इस लिए सभी पहलुओं पर गौर करते हुए नतीजा यह निकलता है की ब्लॉग को successful बनाना है तो भड़कीले कलर्स की जगह काला सफ़ेद और एक कोई खास secondary कलर ईस्त्माल करें।

2 Large size media files and absents of heading tags – बड़े कद के फोटो और वीडियो तथा हेडिंग टैग की कमी

यह बात सब जानते हैं की Blog design में अच्छी quality की Images का बड़ा महत्व है। कंटैंट के साथ फोटो लगी होंगी तो visitors बहुत आकर्षित होते हैं। लेकिन SEO के लिहाज़ से देखें तो Images लोड होने में समय लेती हैं।

और videos तो उस से भी अधिक समय ले कर प्रदर्शित होंगे। इस लिए ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो images उसी जगह उपयोग करें जहां उसकी जरुरत है। और images का नाप बहुत बड़ा ना रखें। बड़ी size की फोटो डालनी है तो 1 या दो ही फोटो पोस्ट में डालें और उसे अपलोड करने से पहले optimize कर लें। ताकि वह compress हो जाए और ज्यादा जगह ना रोके। और तुरंत लोड हो जाए।

अब बात करते हैं H1 H2 H3 और H4 tags की। किसी भी ब्लॉग पोस्ट में अगर इन headings और बोल्ड तथा इटालिक effect का उपयोग नहीं किया जा रहा है तो उस blog पोस्ट का search engine में टॉप पर आना बहुत ही मुश्किल है। इन के साथ साथ Bullets और numbering भी बहुत important है।

Blog Design

3 Text size and line Space settings – शब्दों का नाप और शब्दों के बीच की जगह का setting

जब कोई visitor कंटैंट पढ़ता है तो उसे लेख पढ़ने में कठिनाई नहीं महेसूस होनी चाहिए। अगर सारे अक्षर पास पास हुए ऊपर और नीचे की लाइन में कम या अधिक जगह हुई। text भी सही साइज़ के ना हुए तो इस बात का बहुत बड़ा फर्क पड़ता है।

इस समस्या से निजात पाना थोड़ा मुश्किल है। चूँकि यह सब ठीक करने के लिए HTML और CSS नाम की कम्प्युटर भाषा का थोड़ा बहुत ज्ञान होना आवश्यक है। पर गभराने की ज़रूरत नहीं है। यह समस्या किसी अन्य ब्लॉगर या web design expert की मदद से सुलझाई जा सकती है। और अगर ब्लॉगर चाहे तो online W3Skools website पर जा कर खुद भी मुफ्त में यह सब सीख सकते हैं।

  • ब्लॉग पोस्ट में पेरग्राफ छोटे छोटे, तीन से पाँच लाइन के ही लिखें।
  • हर एक पेरग्राफ में बोल्ड और इटालिक effect का थोड़ा बहुत use करें।
  • Blog post पर Internal linking करें।
  • Blog post पर outbound quality links भी डालें।
  • हर बार H2 H3 और H4 टैग का सही उपयोग करें।
  • लिस्ट बनाने के लिए Bullets & Numbering भी use करें।

4 Infinite helper Content blog design – अस्तव्यस्त और तंग कर देने वाले लंबे विजिट्स

किसी भी ब्लॉग में Dashboard या front page पर लगभग 7 से 10 excerpt post और side बार तथा footer एरिया में related post, resent post, popular post और दूसरी अन्य कंटैंट related सामाग्री होती है। बढ़िया ब्लॉग डिज़ाइन का नमूना देखना है तो इस लिंक को खोलें। 

अब एक ब्लॉगर को यह बात समझनी चाहिए की अधिक links और article widgets display करने से कोई फायदा नहीं होगा। ऐसा करने से उल्टा visitor confuse होते हैं की कौनसा लेख खोल कर पढ़ें।

और फिर इस तरह के, मच्छी बाज़ार जैसे भरे पूरे ब्लॉग को गूगल सर्च एंजिन भी ठीक से crawl और Index नहीं कर पाता है। जिस कारण इस प्रकार के complicated ब्लॉग अच्छा रैंक नहीं पाते  हैं और इन क्षतिग्रस्त blogs का traffic भी जल्द नहीं बढ़ता है।

  1. ब्लॉग के sidebar में बहुत कम links और widgets सेट करें।
  2. Blog design में Footer में Policy, Disclaimer, Contact, About और Sitemap के pages सेट करना कभी ना भूलें।
  3. साथ में blog design में social sharing buttons भी लगाना ना भूलें।
  4. Subscriber notification popup और subscriber widget किसी भी ब्लॉग की जान होता है। visitor के mail ID का list बनाएँ और नयी पोस्ट Subscribers को मेल से भेज कर अपने ब्लॉग पर traffic बढ़ाएँ।
  5. एक page पर scroll ज़्यादा ना करना पड़े इस तरह से Blog Design set करें। ध्यान रखें की अगर laptop और desktop वाले visitor को आप का ब्लॉग पेज ज़्यादा scroll करना पड़ रहा है तो एक mobile वाला visitor अधिक लंबा page scroll कर कर के पागल ही हो जाएगा।
  6. गूगल बोट्स भी अस्तव्यस्त हद से अधिक लंबे और बेढंगे डिज़ाइन वाले ब्लॉग को गेज करने में दिक्कत महेसूस करते हैं।

5 Avoid Multiple Content on a same page – एक ही page पर ढेर सारे प्रोडक्टस को प्रदर्शित ना करें

कुछ blogger अपने signal page पर ढेर सारे products का बहीखाता लिख कर पोस्ट कर देते हैं। याद रखें की जिस काम में कोई टोकने वाला और पूछने वाला ना हों उसी काम को बड़ी सफाई से और चौकसाई से निभाना चाहिए।

Blogging work में freedom तो होता है पर successful ब्लॉगर बनने के लिए अनुसासन भी ज़रूरी है। पॉइंट यह है की, आप एक ब्लॉग page में affiliate marketing, pay per click, own Product selling, और अन्य दूसरी products नहीं डाल सकते हैं।

ऐसा किया तो Visitor बहुत confuse हो सकते हैं, और SEO के लिहाज़ से देखें तो Google bots भी ऐसे pages को ignore कर देते हैं।

चूँकि उन्हे समझ ही नहीं आएगा की कौनसा product content किस keyword के साथ सही तरीके से rank कर के search list में आगे लाना है। एक अच्छे blogger की यह छोटी सी गलती उसके hard work को west कर सकती है। Google bots ऐसे pages को crawl और index नहीं कर पाते हैं।

Example

जब भी किसी Product का Description या Content पब्लिश करें, तब उसका Heading एक सही keyword के साथ लिखें, और फिर उस आकर्षक heading के नीचे कम से कम 300 से 400 शब्द का अच्छी quality वाला कंटैंट लिखें, जिसमें पहले और आखरी पेरग्राफ में जगह जगह पर उस keyword का उपयोग करें जो आप नें heading में डाला है।

ब्लॉग पोस्ट में अन्य दूसरी जगह भी sentence में ज़रूरत अनुसार keywords use किए जा सकते हैं। याद रखें की, इस तरह का तकनीक SEO Friendly Blog design के अनुरूप होता है।

Website Blog Design का Conclusion

ब्लॉग पर article publish करना शुरू करने से पूर्व अपने website ब्लॉग पर सही अच्छा सा design सेट कर लें। अगर SEO के बारे मेन अधिक detail में जानकारी नहीं है तो यह पोस्ट पढ़ें। याद रखें की हम फटे कपड़े पहन कर घर के बाहर घूमने नहीं जाते हैं। छेद वाली थाली में खाना नहीं खाते हैं। बुरी संगत वाले दोस्त बना कर उनसे रिश्ता नहीं कायम करते हैं।

ठीक वैसे ही एक क्षतिग्रस्त Design वाले ब्लॉग से कोई visitor नाता जोड़ कर अपना समय बरबाद नहीं करता है। Blogging design और SEO से जुड़े कोई अन्य सवाल आप के मन में हों तो बिना शरमाये कमेंट में सवाल पूछें। अपना ज्ञान share करें। पोस्ट पसंद आए तो ब्लॉग subscribe कर के हम से जुड़ें। – धन्यवाद

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *