Android Application business In Hindi | android apps banana sikhe

दोस्तों अगर आप एक स्मार्टफोन उपयोग कर रहे हैं तो आप के फोन में ढेर सारी android application उपलब्ध होंगी। जिस के माध्यम से आप अलग अलग सेवाओं का लाभ उठा रहे होंगे। उदाहरण के तौर पर व्हाट्सअप, फेस्बुक, टिवीटर, केल्क्युलेटर, केलेण्डर, टेलीग्राम, जेंडर, अलार्म, पेयटीएम etc।

अब आप सोच रहे होंगे की यह सब high quality एप्लिकेशन बनाने के लिए तो बहुत ज्ञान की ज़रूरत होगी, जैसे की कोडिंग, डिज़ाइनिंग, कंपायलिंग वगेरा।

अगर आप भी कुछ ऐसा सोचते हैं तो में आप को बता दूँ की यह सब ज़रूरी नहीं है। अगर आप के पास basic इंटरनेट चलाने का नॉलेज है और थोड़ा बहुत आप का logic काम करता है तो आप भी घर बैठे android application बना बना कर उसे बेच भी सकते हैं और उन apps को विज्ञापन द्वारा मोनेटाइज़ कर के ढेर सारा पैसा भी कमा सकते हैं।

अब अगर में किसी professional application बना कर बेचने वाले व्यक्ति की मासिक income की बात करूँ तो आप को यकीन नहीं होगा। एक developer प्रति माह 1 लाख से 10 लाख तक कमा लेता है। अब आप यह मत सोचिएगा की कल आप app बनाना शुरू कर देंगे और परसो आप लाखो कमाने लगेंगे।

इस काम को शुरू कर के business जमाने में थोड़ा टाइम लग जाता है। अब सब से पहला सवाल आता है की आप किस तरह का app बना कर पैसे कमा सकते हैं। तो सब से पहले हम आप को यही सलाह देंगे की आप start up में 1 to 3 page का नॉर्मल application बनाने से शुरुआत करें।

android application

Free Android Application Making

दोस्तों आप के मन में पहला सवाल यही आता होगा की app बनाना तो है पर कैसे शुरुआत करें। तो आप के सवाल का जवाब है, Appibuilder, thunkeble, makroid और appigizer ये सारे फ्री में user को commercial application बनाने की सुविधा प्रदान करते हैं।

अगर आप को application designing और coding में बिलकुल 0 knowdlege है तो भी आप इन वैबसाइट के tutorial देख कर अपना खुद का app बड़ी आसानी से बना सकते हैं। और अगर इन वैबसाइट पर बताए गए English tutorial आप को समझ नहीं आते हैं तो आप YouTube पर जा कर इन के हिन्दी Tutorial भी देख सकते हैं।

Basic Steps of Android application Creation

सब से पहले आप को app का नाम तेय करना है। और paint software में जा कर 512*512 Pixel का एक आकर्षक लोगो तैयार कर लेना है।

अब आप Thunkeble / appibuilder / makeroid किसी भी वैबसाइट पर जा कर खुद का एक user अकाउंट बना कर लॉगिन कर लीजिये।

अगले चरण में आप dashboard स्क्रीन पर से New Project बना लीजिये। और app का नाम set कर दीजिये।

अब आप के सामने एक नया app project खुला हुआ होगा। सब से पहले आप को इस project में एक या दो screen add कर लेने हैं।

अब आप को सभी स्क्रीन का background मन चाहा चेंज कर लेना है। उसके बाद आप left pan में सजे property में से मन चाहा tool use कर सकते हैं।

Tool की बात करें तो उसमें Button, video bar, web viewer, label, arrangement, etc चीज़ें होती हैं जिनहे आप मन मर्ज़ी अनुसार use कर सकते हैं।

अब मान लीजिये आप काapp design तैयार हो गया है तो सब से पहले आप को app में ads जोड़ लेने चाहिए ताकि आप उस app से कमाई कर सकें।

इस कार्य के लिए आप को Admob बैनर और इंटस्टीशल ads drag कर के ब्लॉग पर लगा लेनी है। उसके बाद admob अकाउंट में जा कर ads unit copy कर के app में पेस्ट कर देने हैं।

याद रहे की यह काम करने के बाद आप को ad unit test mode unmark कर देना है। और sizing fixed है तो उसे responsive कर देना है। अगर यह दो काम नहीं किए तो आप के ads display नहीं होंगे।

अब बारी आती है अपने सभी स्क्रीन को जोड़ने की और command को active करने की। तो इस काम के लिए आप को design section से block section में जाना होगा।

Block section में आप को Screen start, button press, timer, back space slide वगेरा होने पर क्या task होना है इसका कमांड सेट कर देना है।

दोस्तों ऊपर का जो पॉइंट है वो लिख कर नहीं समजाया जा सकता है इस लिए उसे practical आप Youtube पर देख कर सीख सकते हैं। उसका link में आप को दे दूंगा।

अब मान लीजिये की आप का application बन कर तैयार हो चुका है। उसमें विज्ञापन भी लग चुके हैं। कोडिंग भी हो चुका है। तो अब आप को उसे test करना होगा।

किसी भी app को test करने के लिए wifi net होना ज़रूरी होगा है। ताकि आप qr code की मदद से phone और लैपटॉप / कम्प्युटर दोनों में साथ इंटरनेट चला कर अपना बनाया हुआ application test कर सकें।

एक बार app test हो गया तो आप को उस app पर अपना पहले तैयार किया हुआ लोगो लगा लेना है। और फिर अप्प को export कर लेना है। ऐसा करने से थोड़ी ही देर में आप का app compile हो कर रैडि हो जाएगा।

अब आप के पास अपने खुद के द्वारा बनाया हुआ application का apk फ़ाइल है। याद रखिए की आप जब भी किसी को अपने app का लिंक दीजिएगा तो apk file दीजिएगा। aia file / project होता है। जिसे आप को अपने पास download कर के संभाल कर रख लेना है।

How find Clients For apps

दोस्तों अच्छा application बना लेने के बाद उसे बेचना ज़रूरी है। यह काम किए बिना आप को कमाई नहीं होगी। अब मान लीजिये की google नें आप का admob अकाउंट disable कर दिया है और अब आप नया account नहीं बना सकते हैं तो क्या करेंगे।

ऐसी प्रोब्लेम आए तो आप app selling कर के कमाई कर सकते हैं। आप को app के लिए clients खोजने होंगे। अब बड़ा सवाल यह आता है की कोई भला आप का app खरीदेगा क्यूँ ? जब की बाज़ार में हर तरह के apps free में उपलब्ध है।

तो इस सवाल का सीधा सा जवाब है की आप कोई आलतू फालतू app बना कर नहीं बेच रहे हैं आप एक business app बना कर sell कर रहे हैं। आइये business app का एक उदाहरण में आप को समझा देता हूँ।

Example of a Business application

मान लीजिये मेरे पास में ही एक बड़ी सी किराने की दुकान है। वो सारा अपना काम बुक्स के द्वारा करते हैं। और कस्टमर को नयी products की जानकारी फोन के द्वारा देते हैं। तो हम उनके लिए एक product price वाला simple app बना सकते है। जिसमें वह अपने चीजों के भाव price और images बदल सके। और फिर वह app अपने clients को install करवा कर बड़ी आसानी से मार्केटिंग कर सके।

अब एक बात समझ लीजिये शुरुआत में आप को कोई ज़्यादा पैसा नहीं देगा। शायद इस काम को ले कर लोग आप का मज़ाक भी बनाएँ। लेकिन जब आप के apps से दुकान दार और ग्राहक को लाभ होगा। उनका समय बचेगा खर्च बचेगा तो automatic आप के काम की तारीफ़ होगी।

जैसे जैसे काम आगे बढ़ेगा। clients भी बढ़ते जाएंगे। कुछ इसी तरह आप अपने एरिया के doctors के लिए appointment app भी बना सकते हैं। जैसे ही कोई मरीज़ appointment बूक करता है। उसे SMS से टाइम का notification चला जाये ऐसा simple app अगर आप बना कर किसी स्थानिक डॉक्टर को बेचते हैं तो वह बड़ी आसानी से उसे 5 या 10 हज़ार में खरीद लेगा।

अब मेरे कई ऐसे दोस्त होंगे जिनहे लगेगा की ऐसे app नहीं बिकता है। तो में आप सब को बता दूँ की, बूंद बूंद से सागर बनता है। शुरुआत में आप अपना application फ्री में बेचो। फिर 1 Rs से शुरुआत करो। पोस्ट अच्छी लगे तो Like और subscribe अवश्य करें। धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *