Wheat grass गुणकारी गेहूं के जवारे के लाभ और नुकसान

दोस्तों आज हम आप को गेहूं के जवारे (Wheat grass)के स्वास्थ्य लाभ बताने जा रहे हैं। गेहूं के जवारे में आयोडिन, सेलेनियम, क्लोरोफिल, जिंक, लोह और ढेर सारे विटामिन होते हैं। शरीर में अगर विशेले पदार्थ डेरा डाल कर बैठे हैं तो गेहूं के जवारे का सेवन करने से यह तकलीफ दूर हो सकती है। मोटापे की समस्या से झुज रहे हैं तो भी यह पदार्थ बहुत उपयोगी होता है।

Wheat grass

गेहूं के जवारे (Wheat grass) में बहुत मात्रा में फाइबर होता है जिस कारण शरीर का वज़न कम करने में मदद मिलती है। कब्ज़ रोग से पीड़ित व्यक्ति भी अगर गेहूं के जवारे (Wheat grass) के रस का सेवन करेंगे तो उनका पेट साफ आएगा। इन के अलावा अगर किसी को जी मचलने या उबकाई आने की समस्या है तो गेहूं के जवारे का जूस पीने से यह रोग दूर होगा। गेहूं के जवारे का सेवन निरंतर करने से बुढ़ापा दूर रहता है। गेहूं के जवारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाता है। और ह्रदयघात से बचाव करता है। गेहूं के जवारे शरीर के पी एच लेवल को नियंत्रित करता है और एसिडिटी की समस्या से राहत दिलाता है।

गेहूं के जवारे (Wheat grass) का सेवन करने से दिमाग तेज़ होता है, और तनाव कम होने लगता है। अगर बाल गिर रहे हैं तो गेहूं के जवारे का पाउडर रात को भिगो कर रख दीजिये और सुबह में उसे छान कर अपने बाल धो लीजिये। इस प्रयोग से झड़ते गिरते बाल ठीक हो जाएंगे। अगर गेहूं के जवारे (Wheat grass) से चेहरे को चमकाना है तो एक चम्मच गेहूं के जवारे का पाउडर थोड़े गुलाबजल के साथ मिला कर पेस्ट बना लीजिये और चेहरे पर लगा लीजिये। फिर थोड़ी देर में चेहरे की ठंडे पानी से धो लीजिये।

गेहूं के जवारे (Wheat grass) के नुकसान

  1. गेहूं के जवारे हद से अधिक मात्रा में लगातार सेवन करने से उल्टी हो सकती है।
  2. गेहूं के जवारे कभी कभी सिरदर्द की समस्या उत्पन्न कर सकते है।
  3. गेहूं के जवारे कभी कभी एलर्जी कर सकते हैं।
  4. गेहूं के जवारे पाचन ना होने पर कभी कभी ड़ायेरिया की समस्या पैदा कर सकते हैं।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *